नार्मल ऑक्सीजन लेवल कम होने पर क्या करें | Normal oxygen level in Body covid at home treatment

How to improve oxygen level in covid at home आज समझ ले ये सब नार्मल ऑक्सीजन लेवल ऑक्सीजन लेवल कम होने पर क्या करें नार्मल ऑक्सीजन लेवल कितना होना चाहिए शरीर में ऑक्सीजन लेवल बढ़ाने के उपाय ऑक्सीजन लेवल कम होने पर क्या करें ऑक्सीजन मशीन फॉर होम ऑक्सीजन गैस बनाने की विधि medical oxygen cylinder ऑक्सीजन गैस कैसे बनती है शरीर में ऑक्सीजन लेवल कम होने पर क्या करना शरीर में ऑक्सीजन का नार्मल स्तर 95 से 100 के बीच मेंं होना चाहिए

कोरोना वायरस से ग्रसित होने के पर रोगी का oxygen level 95 से कम spo2 होने लगता है इसका कारण फेफड़ो (lungs infection) इन्फेक्शन होना है क्योंकि कोरोना वायरस लग्स को खराब करता है जिस वजह से शरीर में पर्याप्त ऑक्सीजन नहीं पहुंच पाती 


आज कई राज्यों में 10 लीटर ऑक्सीजन का सिलेंडर ₹12000 तक में बिक रहा है कई दशकों पहले जब पानी बिकना शुरू हुआ था तब इंसानों ने इसे मजाक समझा था लेकिन आज हवा भी बिक्री शुरू हो गई है सोचिए अब जिंदा रहने के लिए भी सांसे भी खरीदनी पड़ रही है .. 

 Oxygen label kam hone pay kya kare kya nahi 

हमें कैसे पता चलेगा कि ऑक्सीजन का स्तर कम हो रहा है यह कई लोगों ने सवाल पूछा है तो चलिए बता देते हैं ऑक्सीजन का स्तर जब काम होता है तो सर में दर्द, बुखार,  घबराहट जैसे लक्षण दिखाई देते हैं

सही चेक करने के लिए सैचुरेशन मशीन की मदद से रोगी के ऑक्सीजन लेवल का पता कर सकते हैं

-  अगर ऑक्सीजन का स्तर शरीर मे कम हो रहा है तो सबसे पहले यह देखें कि आप बंद कमरे में तो नहीं है अगर बंद कमरे में है तो खुले वातावरण में या फिर दरबाजे खिड़की खोले

-  ऑक्सीजन का स्तर 90 से कम होने पर तुरंत अपने डॉक्टर से कांटेक्ट करें

 ऑक्सीजन लेवल कम होने पर क्या ना करें

-  इंटरनेट की मदद से चिकित्सक करने की कोशिश बिल्कुल ना करें

-  पैनिक होने की या फिर बंद कमरे में रहने की कोई आवश्यकता नहीं है कोशिश करें एक्सरसाइज करने की खुले वातावरण में रहने की

-  कोई भी ऐसी दवा का सेवन ना करें जिससे बारे में जानकारी ना हो

 कोरोना के लक्षण होने पर क्या करें


इस समय देश में दो तरह का कोरोना फैल रहा है एक तो नॉर्मल स्तर का कोरोना जिसमें रोगी जल्दी ठीक हो जाता है रिकवर rate 90% है अगर वह जागरूक रहे इन्फेक्शन अगर जल्द नहीं फैला जिन्होंने इलाज लिया

 दूसरा स्तर है जिसमें लोग पहले से किसी बीमारी से ग्रसित होने की वजह से या फिर जागरूक ना होने की वजह से इन्फेक्शन अधिक फैलने की वजह से कोरोना वायरस अपना प्रकोप बढ़ा देता है

 यहां पर यह भी समझना आवश्यक है कि कोरोना वायरस से रिकवर होने की रेट 90 परसेंट से अधिक है मतलब 90 परसेंट रोगी बच सकती हैं


   corona positive hone par kya kare


कोरोना पॉजिटिव होने पर सबसे पहले अपने आप को आइसोलेट करें एकांतवास कह सकती हैं इसके लिए ऐसे कमरे का चुनाव करें जहां पर बाथरूम में और आप किसी और के संपर्क में ना आए क्योंकि क्या मतलब अगर एक को सही किया जाए और 3 को संक्रमित किया जाए इसलिए ऐसे कमरे का चुनाव करें जहां पर सारी सुविधा हो आप अकेले रह सके

शुरुआती लक्षणों में अपने डॉक्टर से कंसल्ट कर के दवाइयां ले सकती हैं शुरुआत में पेरासिटामोल व जरूरी medicine लेते रहे समय समय पर अपना ऑक्सीजन लेवल चेक करते रहें अगर यह 90 से कम होता है तो फिर हॉस्पिटल में भर्ती होने की आवश्यकता है
Previous Post Next Post